Ravi Kumar Dahiya ने Tokyo Olympic 2020 में रचा इतिहास

Ravi Kumar Dahiya भारत के सर्वश्रेष्ठ पहलवानों में से एक हैं, जिन्होंने भारतीय पदक भी जीते हैं। उनकी कुश्ती तकनीक बहुत अच्छी है। जिससे उन्हें इस साल टोक्यो में हुए ओलिंपिक खेलों में हिस्सा लेने का मौका मिला, जिसमें वह भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। रवि कुमार दहिया ने टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में कजाकिस्तान के नुरिसलाम सनायेव को हराया। रवि कुमार दहिया अपना फाइनल मैच हार गए हैं। देश को उनसे सोने की उम्मीद थी लेकिन ये उम्मीदें पूरी नहीं हुईं। वह विश्व चैंपियन रूस के जवुर युगुयेव से 4-7 से हार गए।

Madhubala को उनकी Acting और खूबसूरती के लिए लोग आज भी भूल नहीं पाए हैं

रवि कुमार दहिया

वह अब 57 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक के लिए फाइनल में भिड़ेंगे। इससे पहले सुनील कुमार ने 2012 लंदन ओलंपिक के ओलंपिक फाइनल में प्रवेश किया था। वहीं अब उनका मुकाबला 5 अगस्त को रूस के जुर उगुयेव से होगा। । इसलिए भारत के लोगों को इनसे काफी उम्मीदें हैं। आइए हम आपको इस लेख में उनके करियर की कहानी और उनके जीवन के कठिन संघर्षों के बारे में बताते हैं।

Short Biography Ravi Kumar Dahiya Wrestler in Hindi 

अनुक्रम दिखाएँ
Name Ravi Kumar Dahiya
Neck NameRavi Kumar
Profession Freestyle Wrestling 
Event 57 kg
Country India 
Date Of Birth 12 Dec 1997 
Father Name Raksh Dahiya 
Coch Satpal Singh aur Varinder Kumar 
Height 5 Feet 7 Inch 
Eyes Color Black 
Hair Color Black 
Birth Place Nahri, Sonipat District, Haryana, India
Nationty Indian 
Hometown Nahri, Sonipat 
ReligionHindu
CasteJaat Harnavi 
Rashi धनुराशि
Marital Status Unmarried 

Ravi Kumar Dahiya का जीवन पर्चिय  

रवि कुमार दहिया का जन्म 12 दिसंबर 1997 को हरियाणा के सोनीपत जिले के नहरी गांव में हुआ था। रवि दहिया के पिता का नाम राकेश दहिया है। रवि दहिया का जन्म एक निम्न आय वर्ग के परिवार में हुआ था। उनके पिता एक किसान थे, लेकिन उनके पास अपनी कोई जमीन नहीं थी। वह दूसरों के खेतों को किराये पर लेकर खेती करता था।

Read More  लाल बहादुर शास्त्री का जीवन परिचय|Lal Bahadur Shastri Biography In Hindi

रवि कुमार के पिता उनके लिए फल खरीदने के लिए नहरी गांव से दिल्ली तक करीब 40 किलोमीटर का सफर तय किया करते थे।

छत्रसाल स्टेडियम में तैयारी

रवि ने अपनी बेहतर ट्रेनिंग के लिए छत्रसाल स्टेडियम को चुना। इसी स्टेडियम से दांव-पेंच सीखकर कई रेसलर को पदक मिला है। उन्होंने फेमस रेसलर गुरु सतपाल को आगे की ट्रेनिंग के लिए चुना। साल 2015 में छत्रसाल स्टेडियम के जाने-माने पहलवान के नेतृत्व में ट्रेनिंग शुरू करने के बाद उन्होंने सबसे पहले वर्ल्ड कैडेट चैंपियनशिप का हिस्सा बनकर अपना हुनर दिखाया। मगर यहां कामयाबी नहीं मिल पाई।

Ravi Kumar Dahiya का Career 

फोगट बहनें, बजरंग पुनिया, योगेश्वर दत्त जैसे दिग्गज पहलवान भी उसी इलाके से आते हैं जहां से रवि दहिया आते हैं। रवि दहिया भी कुश्ती करना चाहते थे, लेकिन उनके परिवार की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी। इसके बावजूद रवि दहिया के परिवार वालों ने पहलवान बनने में अपना पूरा साथ दिया। रवि दहिया ने दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में कुश्ती की ट्रेनिंग ली है, जो पूरे देश में कुश्ती के स्कूल के रूप में जाना जाता है।

यहां रवि दहिया ने सुशील कुमार और योगेश्वर दत्त को दिग्गज खिलाड़ी खेलते देखा। छत्रसाल स्टेडियम में कुश्ती की ट्रेनिंग लेकर रवि दहिया अंतरराष्ट्रीय पहलवान बने। सतपाल सिंह और वीरेंद्र कुमार रवि दहिया के कोच हैं।

रवि कुमार दहिया ने अपना डेब्यू 22 साल की उम्र में किया था। उन्होंने अपना पहला मैच वर्ल्ड चैंपियनशिप में खेला था और उस मैच में रवि कुमार दहिया ने ईरान के खिलाड़ी और एशियन चैंपियन रीज़ा अत्रीनाघारची को हराया था। इसी मैच के बाद से ही लगने लगा था कि रवि आगे चलकर जरूर ओलिंपिक तक पहुंच सकता है। यहां पर उन्होंने अपने नाम कांस्य पदक हासिल किया था।

इसके बाद साल 2015 में जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में रवि कुमार ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया और अपने नाम सिल्वर मेडल हासिल किया।रवि कुमार दहिया ने 57 किग्रा वर्ग में लगातार वृद्धि दिखाई है। उन्होंने विश्व चैंपियनशिप चयन में वरिष्ठ पहलवान संदीप तोमर और उत्कर्ष काले को भी हराया, जिससे उन्हें कांस्य पदक और टोक्यो 2020 का टिकट हासिल करने में मदद मिली।

Muniba Mazari कैसे बनी पाकिस्तान की पहली व्हील चेयर आयरन लेडी

Ravi Kumar Dahiya की उपलब्धियां

रवि कुमार दहिया ने वर्ष 2015 में जूनियर विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक जीता था। 2017 में आयोजित सीनियर नेशनल गेम्स में रवि दहिया ने शानदार प्रदर्शन किया और सेमीफाइनल में पहुंचे, लेकिन उन्हें बाहर होना पड़ा। चोट। रवि दहिया ने विश्व चैंपियनशिप में एशियाई चैंपियन रीजा अत्रिनाघरची को हराकर कांस्य पदक जीता। साल 2018 में अंडर 23 वर्ल्ड चैंपियनशिप में रवि दहिया ने सिल्वर मेडल जीता था.

Read More  Milkha Singh जिसे फ्लाइंग सिख कहा जाता था वो आज हमारे वीच नहीं रहे

  Ravi Kumar Dahiya विवाद

 रवि कुमार दहिया एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो अपने खेल को लेकर हमेशा सुर्खियों में बने रहते हैं। रवि दहिया विवादों से दूर रहते हैं, और हमें उनके बारे में किसी भी चर्चा की जानकारी नहीं है।

Ravi Kumar Dahiya टोक्यो ओलंपिक मैच 2021

टोक्यो ओलंपिक 2021 में भारतीय पहलवान रवि कुमार दहिया पुरुषों के 57 किग्रा वर्ग फ्रीस्टाइल कुश्ती के फाइनल में पहुंच गए हैं। भारतीय पहलवान रवि कुमार दहिया ने बुधवार को टोक्यो ओलंपिक के क्वार्टर फाइनल में बुल्गारिया के पहलवान जोर्डी वांगेलोव को 14-4 से हरा दिया। इसके बाद बुधवार को सेमीफाइनल मुकाबले में कजाकिस्तान के नुरिस्लाम सानायेव को हराकर फाइनल में जगह बनाई है, जिससे कुश्ती में भारत की जीत सुनिश्चित हो गई है. लेकिन लोगों को गोल्ड मेडल जीतने की भी उम्मीद है।

कजाकिस्तान के  खिलाड़ी नहीं दिखाई खेल भावना 

पहलवान रवि दहिया ने टोक्यो ओलिंपिक में भारत का चौथा मेडल पक्का कर दिया है। उन्होंने बुधवार को 57 किलोग्राम वेट कैटेगरी के सेमीफाइनल में कजाकिस्तान के नूरीस्लाम सनायेव को हरा दिया, लेकिन खेल खत्म होने के बाद सोशल मीडिया पर मैच का एक वीडियो तेजी से वायरल हो गया।

इस वीडियो में कजाक पहलवान नूरीस्लाम मैच के दौरान पहलवान रवि की बाजू में दांत गड़ाते और उन्हें काटते हुए नजर आ रहे हैं। दरअसल मैच की शुरुआत में नूरीस्लाम ने रवि पर 10-2 की बढ़त बना ली थी। उन्हें लगने लगा था कि वे आसानी से रवि को हरा देंगे।

Ravi Kumar Dahiya  ने Tokyo Olympic 2020 में रचा इतिहास

कुछ देर बाद ही रवि ने जोरदार वापसी की और नूरीस्लाम को पटखनी दे दी। आखिरी 60 सेकेंड के मैच में रवि के दांव से घबराए नूरीस्लाम ने उनकी बाजू में दांत गड़ाने शुरू कर दिए, लेकिन रवि ने नूरीस्लाम के हारने से पहले अपना दांव ढीला नहीं पड़ने दिया। मैच खत्म होने के बाद रवि ने ये बात रेफरी को भी बताई।

Ravi Kumar Dahiya टोक्यो ओलंपिक अगला मैच शेड्यूल

रवि कुमार दहिया का अगला मैच बुधवार, 4 अगस्त को दोपहर 2:45 बजे कजाकिस्तान के नुरिस्लाम सुनयव के खिलाफ था। इस मैच से भारत की जनता को काफी उम्मीद थी कि वो फाइनल में पहुंच जाएगी और यही हुआ फाइनल में पहुंचे रवि कुमार दहिया. और भी ओलंपिक पदक भारत के खाते में जुड़ने वाले हैं. फाइनल मैच का समय जल्द ही अपडेट किया जाएगा।

 जानें पहलवान Ravi Kumar Dahiya के फाइनल बाउट को कब और कहां देख सकते हैं LIVE

भारतीय पहलवान रवि दहिया टोक्यो ओलंपिक खेलों में इतिहास रचने से सिर्फ एक जीत दूर हैं। रवि ने पुरुष फ्रीस्टाइल 57 किग्रा कुश्ती प्रतियोगिता के फाइनल में धमाकेदार प्रवेश किया है।

खिताबी मुकाबले में रवि का सामना रूसी ओलंपिक समिति के बैनर तले रवि कुमार दहिया बनाम ज़ावुर उगुएव से होगा। फाइनल मैच गुरुवार (5 अगस्त) को खेला जाएगा। मुकाबला टोक्यो में मकुहारी मेस्से हॉल के मैट बी से होगा।

Read More  Sardool Sikander Biography,Death, Net Worth In Hindi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व खेल मंत्री किरण रिजिजू, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और अन्य हस्तियों ने रवि को खिताब की दौड़ में पहुंचने पर बधाई दी है. रवि ओलंपिक में पदक जीतने वाले 5वें भारतीय पहलवान होंगे। रवि से पहले केडी जाधव, सुशील कुमार, योगेश्वर दत्त और साक्षी मलिक ने भारत के लिए ओलंपिक पदक जीते हैं।

टोक्यो ओलंपिक खेलों में पुरुष फ्रीस्टाइल 57 किग्रा कुश्ती का अंतिम मुकाबला भारतीय समयानुसार गुरुवार (5 अगस्त) को शाम 4:20 बजे खेला जाएगा।

Ravi Kumar Dahiya Final Match Today

रवि कुमार दहिया अपना फाइनल मैच हार गए हैं। देश को उनसे सोने की उम्मीद थी लेकिन ये उम्मीदें पूरी नहीं हुईं। वह विश्व चैंपियन रूस के जवुर युगुयेव से 4-7 से हार गए।

भारतीय पहलवान रवि कुमार अब रवि दहिया फाइनल में भारत से हार गए हैं। यहीं से भारत का गोल्ड मेडल जीतने का सपना चकनाचूर हो गया। दहिया ने पहले ही सिल्वर हासिल कर लिया था। दहिया को अब सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा होगा।

दहिया बहुत सक्रिय रूप से लड़ रहा था लेकिन वह जवुर युगुयेव के साथ नहीं जीत सका। विश्व चैंपियन रूस के जवुर युगुयेव ने भी 2019 विश्व चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में रवि कुमार को हराया।

पुरुष फ्रीस्टाइल 57 किग्रा फाइनल में, आरओसी के ज़ावुर उगुएव पहले दौर के बाद 4-2 से पीछे हो गए। इसके साथ ही ज़ावुर उगुएव एक बड़ी बढ़त की ओर बढ़ रहे हैं। जावुर ने 4 अंक की बढ़त बना ली है।

पहला दौर – आरओसी के जवुर उगुएव ने पहलवान रवि कुमार से पहले 2 अंक हासिल कर 2 अंक हासिल किए थे लेकिन उसके बाद रवि ने जोरदार वापसी की और प्रतिद्वंद्वी से 2 अंक हासिल किए। यह मैच 2-2 से ड्रॉ पर समाप्त हुआ।

सोनीपत में पहलवान रवि कुमार दहिया के परिवार के सदस्यों ने आज बाद में पुरुष फ्रीस्टाइल (57 किग्रा) फाइनल से पहले अपना उत्साह बढ़ाया। रवि के पिता राकेश दहिया कहते हैं, ”देश को भरोसा है कि वह स्वर्ण जीतेगा. यहां उत्सव का माहौल है। वह देश का नाम रोशन करेंगे।’

FAQ  Questions Related To Ravi Kumar Dahiya Biography In Hindi 

Q Ravi Kumar Dahiya  की World Ranking क्या है?

Ans: वर्ल्ड चैंपियनशिप में तीसरा, वर्ल्ड अंडर 23 कैटेगरी में दूसरा और एशियन चैंपियनशिप में पहला स्थान.

Q. Ravi Kumar Dahiya  कितने साल के हैं?

Ans. 23 वर्ष


Q. रवि कुमार दहिया का टोक्यो ओलंपिक में क्या प्रदर्शन है?

Ans. : फाइनल में पहुंच चुके हैं।


Q.: रवि कुमार दहिया का वजन कितना है?

Ans: 57 किग्रा


Q.: रवि कुमार दहिया की जाति क्या है?

Ans.: जाट हरियाण्विक


Q. रवि कुमार दहिया का अगला मैच कब है?

Ans जल्द ही

मेरा नाम जतिंदर गोस्वामी है। मुझे ब्लॉग्गिंग करने का शौंक हैं। में ज्ञानीगोस्वामी वेबसाइट का फाउंडर हूँ। इस वेबसाइट में हर तरह की जानकारी शेयर करता हूँ। इस वेबसाइट में जीवनी , अविष्कार, कैरियर, हेल्थ , और आदि जानकारी हम सरल हिंदी भाषा में शेयर करते हैं.जो आप आसानी से जान सके.

Leave a Comment