Mobile Ka Avishkar Kisne Aur Kab Kiya

आज के समय में मोबाइल के बिना रहना लगभग नामुमकिन सा लगता है. Mobile ka Avishkar  मनुष्य द्वारा की जाने वाली सबसे उपयोगी चीजों में से एक है। मोबाइल ने न केवल दूर के लोगों को संचार के माध्यम से एक-दूसरे से जोड़ा है, बल्कि इस तकनीक की दुनिया में इंसानों के लिए और भी कई रास्ते खोले हैं, जिससे लोगों का जीवन आसान हो गया है। आज की नई पीढ़ी क्रिकेट नहीं बल्कि स्मार्टफोन में हैवी ग्राफिक्स वाले गेम खेलती है। फोन के आविष्कार को सकारात्मक और नकारात्मक दोनों तरह से लिया जा सकता है। लेकिन Mobile ka Avishkar ने दुनिया को बहुत छोटा और आसान बना दिया है।

Mobile Ka Avishkar Kisne Aur Kab Kiya

आजकल कैमरा से फोटो लेने के लिए, नक्शों के माध्यम से रास्ता खोजने के लिए, फोन वॉलेट के माध्यम से पैसे के लेनदेन के लिए और मनोरंजन आदि के लिए मोबाइल के साथ-साथ मोबाइल का उपयोग किया जाता है। सुबह आंख खुलने से लेकर रात को सोने तक लोग अपना ज्यादातर समय मोबाइल पर ही बिताते हैं। ऐसे में दिमाग में यह ख्याल जरूर आया होगा कि आखिर मोबाइल की खोज किसने की? अगर आप भी यही जानना चाहते हैं तो आज हम आपको इसी बात के बारे में बताने जा रहे हैं।

Ghadi Ka Avishkar Kisne Kiya|घड़ी का आविष्कार किसने किया

What is Mobile Phone 

फोन एक ऐसा device  है जिसके माध्यम से दो व्यक्ति एक दूसरे से दूर रहते हुए भी एक दूसरे से बात कर सकते हैं। यदि एक व्यक्ति दुनिया के एक कोने में बैठा है और दूसरा व्यक्ति भी दुनिया के दूसरे कोने में बैठा है, तो वे फोन के माध्यम से एक दूसरे से जुड़े रह सकते हैं।

फोन कई प्रकार के होते हैं, लेकिन telephone के आविष्कार के बाद इसे छोटा करने और इसे अधिक तकनीक और सुविधाओं के साथ पेश करने के विचार ने phone  को जन्म दिया। फोन आकार में टेलीफोन की तुलना में बहुत छोटे होते हैं और कोई भी उनके साथ यात्रा कर सकता है।एक टेलीफोन, एक टेलीफोन की तरह, एक प्रकार का संचार उपकरण है जिसके माध्यम से दो लोग एक दूसरे से बात कर सकते हैं। दो या दो से अधिक लोग फोन पर बात कर सकते हैं, भले ही वे एक-दूसरे से दूर हों।

जो किसी भी प्रकार की ध्वनि, मुख्य रूप से मानव आवाज को इलेक्ट्रॉनिक संकेतों में परिवर्तित करता है जो केबल या विद्युत चुम्बकीय तरंगों के माध्यम से दूसरे व्यक्ति को प्रेषित होता है और दूसरा व्यक्ति पहले व्यक्ति को सुन सकता है।

Tractor ka Avishkar किसने और कब किया था|Who invented the first Tractor

Mobile ka Avishkar का कब हुआ था

Mobile ka Avishkar मार्टिन कूपर ने किया था। आज हमारे पास टच-स्क्रीन स्मार्टफोन हैं जो हजारों सुविधाओं के साथ हमारे हाथों के इशारों पर चलते हैं।

फोन उद्योग को इस स्तर तक लाने में लाखों इंजीनियरों, विद्वानों और वैज्ञानिकों का योगदान रहा है, लेकिन यह सब इसलिए शुरू हुआ क्योंकि अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने टेलीफोन का आविष्कार किया था और तब से विद्वानों ने इसे और भी छोटा और उन्नत बनाने की कोशिश की है।

Read More  Madhubala को उनकी Acting और खूबसूरती के लिए लोग आज भी भूल नहीं पाए हैं

टेलीफोन के आविष्कार के बाद से ही इसे और भी आधुनिक और पोर्टेबल बनाने का प्रयास किया गया है। इस क्षेत्र में कई कंपनियां और विद्वान काम कर रहे थे लेकिन जीतने वाले पहले मोटोरोला इंजीनियर मार्टिन कूपर थे।

1970 में मोटोरोला से जुड़कर मार्टिन कूपर दुनिया के पहले फोन का आविष्कार करने वाले पहले व्यक्ति थे। मार्टिन एक अमेरिकी थे जिनकी दूरसंचार उद्योग में गहरी रुचि थी। मार्टिन कूपर वायरलेस तकनीक पर काम कर रहे थे। वह बिना किसी केबल के टेलीफोन जैसा उपकरण बनाने के लिए इस तकनीक का उपयोग करना चाहता था।

मार्टिन ने आखिरकार दुनिया के पहले Mobile ka Avishkar किया जिसका वजन 1.1 किलोग्राम था और इसे एक बार चार्ज करने पर 30 मिनट तक कॉल करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता था। इस फोन को चार्ज होने में 10 घंटे का समय लगा। दुनिया में पहले फोन की कीमत 27 2700 अमेरिकी डॉलर यानी करीब 2 लाख रुपये थी।

सबसे पहले मोबाइल का नाम क्या था

दुनिया के पहले मोबाइल फोन का नाम Motorola DynaTAC था जो 9 इंच का था और इसका वजन लगभग 2.5 पाउंड यानी 1.1 किलोग्राम था। मार्टिन कूपर के इस Mobile ka Avishkar आविष्कार से मोबाइल कॉल उद्योग और दूरसंचार उद्योग उभरने लगे।

मार्टिन कूपर के इस Mobile ka Avishkar आविष्कार के बाद एक दशक तक इस पहले मोबाइल फोन की कमियों को दूर करने का प्रयास किया गया और देश में सेलुलर नेटवर्क को बेहतर बनाने का काम भी किया गया। लगभग 10 साल बाद, 1983 में, मोटोरोला ने मोटोरोला डायनाटैक 8000X को आम जनता के लिए लॉन्च किया।

इस फोन की कीमत 39 3995 यानि 2.80 लाख रुपये थी। इस फोन की बैटरी 6 घंटे तक चली और फोन में 30 लोगों तक के कॉन्टैक्ट्स सेव किए जा सकते थे।

Stethoscope के अविष्कार ने दी थी मेडिकल साइंस में बहुत बड़ी सफलता

बाजार में मोबाइल फोन की बिक्री कब शुरू हुई

1973 में लॉन्च किए गए पहले मोबाइल फोन को 0G (Zero Generation) मोबाइल फोन कहा जाता था। 1983 में, पहले Mobile ka Avishkar र के 10 साल बाद, मोटोरोला ने आम जनता के लिए पहला मोबाइल फोन मोटोरोला डायनाटैक 8000X लॉन्च किया। एक बार चार्ज करने पर यह 30 मिनट तक बात कर सकता है। यह 30 मोबाइल नंबर भी बचा सकता था और उस समय इसकी कीमत US 39 3995 (₹ 295669) थी।

भारत में मोबाइल कब आया था

जैसा कि अभी उल्लेख किया गया है, 1983 में बाजार में पहला मोबाइल फोन लॉन्च किया गया था। लेकिन इसका सामना करते हैं, यह केवल अमेरिकी बाजार में उपलब्ध था। भारत में पहली मोबाइल सेवा भारत में 1995 में शुरू की गई थी। उस समय भारत के पहले केंद्रीय दूरसंचार मंत्री श्री सुख राम ने 31 जुलाई 1995 को पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री श्री ज्योति बसु से मोबाइल पर बात की थी।

भारत में यह पहला मोबाइल कॉल कलकत्ता के राइटर्स बिल्डिंग में दिल्ली के संचार भवन से जुड़ा था। इस सेल्युलर कॉल के बाद कलकत्ता में मोबाइल सेवा शुरू की गई।

भारत में उपलब्ध यह पहली मोबाइल सेवा मोदी टेल्स्ट्रा की मोबाइलनेट सेवा द्वारा उपलब्ध कराई गई थी। मोदी टेल्स्ट्रा भारत के मोदी समूह और ऑस्ट्रेलियाई दूरसंचार दिग्गज टेल्स्ट्रा के बीच एक संयुक्त उद्यम था। Telstra उस समय भारत में सेलुलर सेवाएं प्रदान करने के लिए लाइसेंस प्राप्त आठ कंपनियों में से एक थी।

Read More  Tractor ka Avishkar किसने और कब किया था|Who invented the first Tractor

Market में कितने तरह के Mobile Phone है 

आज बाजार में मुख्य रूप से तीन तरह के मोबाइल फोन उपलब्ध हैं जो हैं-

Cell Phone 

सेल फोन शुरुआती दिनों में मोबाइल फोन थे। उनके पास कम उन्नत सुविधाएँ हैं और इन्हें आसानी से उपयोग किया जा सकता है। कॉल करना और टेक्स्ट मैसेज भेजना या किसी का मोबाइल नंबर सेव करना इन फोन में मुख्य काम हो सकता है। फीचर्स कम होने की वजह से इन फोन्स की कीमत मार्केट में काफी कम थी। अब नई तकनीक वाले मोबाइल के आने से बाजार में सेल फोन की मांग कम हो गई है। इसलिए ये फोन अब बाजार में कम ही देखने को मिलते हैं।

Feature Phone 

फीचर फोन दिखने में सेल फोन के समान होते हैं लेकिन वे स्मार्ट फोन की कुछ विशेषताएं भी प्रदान करते हैं। फीचर फोन में कॉल और टेक्स्ट मैसेज करने के अलावा, कैमरे से फोटो लेना, वीडियो बनाना, मोबाइल में गाने सुनना, इंटरनेट पर सर्फिंग और अन्य मल्टीमीडिया फंक्शन उपलब्ध हैं। इनकी कीमत सेल फोन से ज्यादा होती है लेकिन ये स्मार्ट फोन से सस्ते होते हैं।

Smartphone

अब जो मोबाइल फोन सभी सुविधाओं के साथ आ रहे हैं उन्हें स्मार्टफोन कहा जाता है। वे नई तकनीक का इस्तेमाल करते हैं। इसमें उन्नत ऑपरेटिंग सिस्टम हैं जो मुख्य रूप से चार प्रकार के होते हैं। जिसमें एंड्रॉयड, एप्पल आईओएस, ब्लैकबेरी और विंडोज आधारित मोबाइल फोन शामिल हैं। स्मार्टफोन में टच स्क्रीन की सुविधा होती है और इसमें 4जी इंटरनेट, वाईफाई कनेक्टिविटी, एचडी कैमरा, जीपीएस और कई अन्य उन्नत सुविधाएं होती हैं। यह फीचर उन्हें दूसरे मोबाइल फोन से अलग बनाता है।

Amazing fact about Mobile Phone

1. अफ्रीका में पानी और बिजली के कनेक्शन से ज्यादा लोगों के पास मोबाइल फोन हैं।

2. दुनिया का पहला स्मार्टफोन Ericsson का GS88 “पेनेलोपे” मॉडल था। यह सन 1997 में आया था।

3. मोबाइल पर मालवारे के 99 प्रतिशत शिकार एंड्राइड यूजर होते हैं।

4. दुनिया का सबसे ज्यादा बिकने वाला मोबाइल फोन नोकिआ 1100 था। इस हैंडसेट की 250 मिलियन यूनिट बिकी थी।

5. आज के समय दुनिया में लोगो से ज्यादा मोबाइल फोन है। एक सर्वे के अनुसार दुनिया भर में 7500 मिलियन मोबाइल की लाइन्स मौजूद हैं जबकि विश्व की कुल जनसंख्या 7,350 मिलियन है।

6. वर्ष 2015 में लोग शार्क मछली के हमले से ज्यादा मोबाइल पर सेल्फी लेते हुए मरे हैं।

7. दुनिया का सबसे महंगा मोबाइल फाल्कन सुपरनोवा पिंक डाइमंड है। यह मुख्यता आईफोन 6 है जिसमें 18 कैरट गोल्ड का इस्तेमाल किया गया है। इसकी कुल कीमत 95.5 मिलियन डॉलर है।

8. मलेशिया में अपने पार्टनर को मोबाइल पर टेक्स्ट मैसेज करके तलाक देना कानूनी माना गया है।

9. फिनलैंड देश में मोबाइल फेंकने की एक विश्व प्रतियोगता आयोजित होती है। इसमें सबसे दूर मोबाइल फेंकने का रिकॉर्ड पुरुष का 97 मीटर जबकि महिला का 40 मीटर है।

10.Apple Phone  ने साल 2018 में हर दिन लगभग 5 लाख 72 हजार मोबाइल फोन बेचे हैं।

11. आज के समय में मोबाइल फोन इंडस्ट्री दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाली इंडस्ट्री है।

12. मोबाइल के रेडिएशन खतरनाक हैं। इसके ज्यादा इस्तेमाल से अनिद्रा और सिरदर्द होने की समस्या हो सकती है।

13. एक सर्वे के मुताबिक दुनिया के 70 प्रतिशत मोबाइल फोन का उत्पादन चीन में होता है।

14. चीन में मोबाइल पर इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों की संख्या कंप्यूटर पर इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों से ज्यादा है।

15. औसतन एक इंसान एक दिन में करीब 110 बार अपने स्मार्टफोन को अनलॉक करता है।

 आज के समय में कितने लोग Mobile Phone का इस्तेमाल कर रहे है 

Read More  Washing Machine Ka Avishkar Kisne Kiya| वॉशिंग मशीन का अविष्कार किसने

अगर हम आज दुनिया में मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने वाले लोगों की कुल संख्या की बात करें तो ठीक-ठीक बता पाना बेहद मुश्किल होगा, क्योंकि मोबाइल फोन इस्तेमाल करने वालों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। GSMA इंटेलिजेंस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले एक साल में अकेले मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने वालों की संख्या 5.19 अरब (करीब 519 करोड़) है। यदि आप मोबाइल का उपयोग करने वाले लोगों की कुल संख्या देखना चाहते हैं, तो आप GSMA इंटेलिजेंस की वेबसाइट पर जा सकते हैं।

भारत की बात करें तो भारतीय दूरसंचार नेटवर्क टेलीफोन उपयोगकर्ताओं के मामले में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा नेटवर्क है। जहां 1.21 अरब लोग (करीब 121 करोड़ लोग) Mobile ka Avishkar मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं। इन सभी लोगों में से जो मोबाइल फोन का उपयोग करते हैं, 446 मिलियन लोग (लगभग 446 मिलियन लोग) स्मार्टफोन का उपयोग करते हैं। आज भारत में दूरसंचार उद्योग के विशाल बाजार के कारण, दूरसंचार कंपनियों के बीच बहुत प्रतिस्पर्धा है और यही कारण है कि भारत सबसे कम कॉल दरों वाले देशों में से एक है।

आज आपने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है कि मैंने आपको Mobile ka Avishkar करने वाले के बारे में सारी जानकारी दी है और मुझे उम्मीद है कि आपको Mobile ka Avishkar मार्टिन कूपर की जीवनी के बारे में पता चल गया होगा।

यदि आपको इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आप इसे सुधारना चाहते हैं तो आप इसके लिए कम टिप्पणियाँ लिख सकते हैं। आपके विचार हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मौका देंगे।

FAQ Questions Related To Mobile ka Avishkar 

Q.मोबाइल कब बनाया गया था?

Ans.मोबाइल फोन बेस स्टेशनों के लिए सेल का आविष्कार 1947 में एटी एंड टी की बेल लेबोरेटरीज के इंजीनियरों द्वारा किया गया था और 1960 के दशक के दौरान बेल लेबोरेटरीज द्वारा इसे और विकसित किया गया था।


Q.भारत में पहला मोबाइल लॉन्च कौन सा था?

Ans.भारत का पहला मोबाइल फोन Nokia का था। जिसका सबसे पहला प्रयोग पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री ज्योति बसु ने किया था, जिन्होंने मोदी टेलस्टा कंपनी की मोबाइल नेटवर्क सेवा से पूर्व संचार मंत्री सुखराम से बात की थी। वैसे तो दुनिया का पहला मोबाइल फोन मोटोरोला ने ही बनाया था।

Q.भारत में कितने लोगों के पास स्मार्टफोन है?

Ans.रिपोर्ट के मुताबिक भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल फोन बाजार है। यहां मोबाइल ग्राहकों की संख्या एक अरब से अधिक है। स्मार्टफोन यूजर्स की संख्या 29 करोड़ के करीब है, जो साल 2022 तक दोगुने से ज्यादा 56 करोड़ हो जाएगी।

Q.स्मार्ट फोन कब लॉन्च हुआ था?

Ans.भारत में पहला स्मार्टफोन 22 अक्टूबर 2008 को लॉन्च किया गया था। इसे लॉन्च करने वाली मोबाइल कंपनी का नाम HTC था। और यह एक एंड्रॉइड फोन था। स्मार्टफोन वे मोबाइल फोन होते हैं जिनमें बुनियादी फोन की तुलना में अधिक उन्नत कंप्यूटिंग क्षमता और कनेक्टिविटी होती है।

Q.Cellular फोन कब शुरू हुआ?

Ans.दुनिया की पहली commercial Cellular phone सेवा को टोक्यो में 1979 में एनटीटी नामक एक जापानी कंपनी द्वारा शुरू किया गया था।

Q.पहला स्मार्टफोन कौन सा है?

Ans.दुनिया का पहला स्मार्ट फोन 1993 में आयोजित वायरलेस वर्ल्ड कॉन्फ्रेंस में पेश किया गया था, आईबीएम सिमन नामक पहला स्मार्ट फोन पेश किया गया था।

मेरा नाम जतिंदर गोस्वामी है। मुझे ब्लॉग्गिंग करने का शौंक हैं। में ज्ञानीगोस्वामी वेबसाइट का फाउंडर हूँ। इस वेबसाइट में हर तरह की जानकारी शेयर करता हूँ। इस वेबसाइट में जीवनी , अविष्कार, कैरियर, हेल्थ , और आदि जानकारी हम सरल हिंदी भाषा में शेयर करते हैं.जो आप आसानी से जान सके.

Leave a Comment